Happy holi kaise ya kyo manate hai celebrate kaise kare

0
899

हम holi क्यों मानते है :

नमस्कार दोस्तों सबसे पहले आप लोगो को इस त्यौहार की हार्दिक हार्दिक और ढेर सारी बधाई आज मै बहुत दिनों बाद आप लोगो के साथ फिर से एक पोस्ट शेयर कर रहा हू क्योकि किसी और काम की वजह से मई busy था लेकिन आज फिर से इन holi के त्यौहार पर मई आप लोगो को इसके बारे में बताने जा रहा हु तो चलिए आप को बताता हु की हम ये त्यौहार क्यों मनाते है –

हम ये त्यौहार क्यों मानते है इसके बारे में एक कथा बहुत ही प्रचलित है जिसे आप सब जानते भी होंगे लेकिन फिर भी मै बता देता हु जैसा की आप सब जानते है की भगवान विष्णु के बहुत से बड़े बड़े भक्त हुए जिनमे से एक भक्त प्रह्लाद भी जो की दैत्य वंश के  थे जो भगवान विष्णु ( हरि ) के बहुत बड़े उपासक थे लेकिन उनके पिता हिरणकश्यप को ये पसंद नही था और उन्होंने अपने पुत्र प्रह्लाद को मरने की बहुत कोसिस की परन्तु वे उन्हें मार न सके .

Happy holi kaise manaye
Happy holi selebrate

लेकिन दैत्य राज हिरणकश्यप के एक बहन भी थी जिसका नाम होलिका था और उसे ब्रह्म देव से एसा वरदान प्राप्त था की उसे आग उसे जला नही सकती इस लिए उसकी प्रह्लाद की बुआ अर्थात होलिका ने प्रह्लाद को जान से मारने की जिम्मेदारी ले ली और होलिका प्रह्लाद को लेकर आग में बैठ गयी परन्तु  उस आग में प्रह्लाद की जगह पर होलिका जल कर मर गयी और भक्त प्रह्लाद बच गये .

तभी से इसे ख़ुशी में लोग आज के दिन holi मानते है और बुराई पर अच्छाई की जीत को याद रखने के लिए आज भी लोग होलिका दहन करते है और तब से आज तक हम इस त्यौहार को होली के रूप में मनाते चले आ रहे है.

Holi कैसे मनाते है :

आज के दिन लोग एक दुसरे को रंग और गुलाल लगा लगाते है और एक दुसरे को बधाई देते है और सभी के घरो में आज के इस त्यौहार पर तरह तरह की मिठाई और खास कर गुझिया जरुर बनती है और साम को लोग एक दुसरे से मिलने के लिए सभी के घर पर जाते है वास्तव के ये एक एसा त्यौहार है जिससे दुश्मन भी दोस्त बन जाता है और एसा होना भी चाहिए आज के दिन सभी को अपने अपने सीकवे और गिले भुला कर एक दुसरे को गले से लगाना चाहिए और फिर से अपनी दोस्ती की मिसाल बनानी चाहिए .

इस त्यौहार पर क्या न करे :

आप सभी इस दिन बहुत खुश होते है और होना भी चाहिए लेकिन अपनी और दुसरो की सेहत का भी ख्याल रखना चाहिए  जिससे आप को और आप के दोस्तों को कोई नुकसान न हो वैसे तो आप सभी बहुत समझदार है लेकिन फिरभी मै आप को कुछ टिप्स बता रहा हु जिसे आप follow करके आप अपनी और अपने सभी लोगो का बचाव कर सकते है

आँख में रंग न डाले :

ये Holi का त्यौहार होता ही एसा है जिसमे लोग बहुत उतावले हो जाते है और रंग लगाने के चक्कर में वे दुसरे की आँख में रंग डाल देते है . मै आप लोगो की जानकारी के लिए बता दू की इस सभी रंग में कैमिकल मिला होता है जो आँखों के लिए बहुत नुकसान दायक होता है. हो सके तो ज्यादा से ज्यादा रंगों के स्थान पर गुलाल या अवीर का इस्तेमाल करे और किरकिरी या चमकीले कण वाले रंगों और गुलाल का उपयोग विल्कुल न करे .

नशा विल्कुल न करे :

अक्सर हम लोग देखते है की बहुत से लोग सभी त्यौहार जैसे :- Deepawali , holi , दशमी आदि किसी भी शुभ और ख़ुशी के मौके पर लोग Intoxication ( नशा ) जैसे :- भाँग , शराब , दारू  आदि नशीले पदार्थो का सेवन करते है जिससे आप को आर आप के मित्रो को भी नुकसान होता है

बहुत से लोग भाँग , दारु और शराब के नशे में लो लड़ाई झागणा करते है और कई लोग तो holi के दिन कपडे भी फाड़ते है जो बहुत ही गलत है. इस लिए आप लोगो से मेरा निवेदन है की आप लोग holi या किसी भी त्यौहार पर नशा नही करेगे .

 मिटटी या कीचड़ का use न करे :

आज कल के बहुत से लोग holi के त्यौहार पर रंग और गुलाल का use  न करके मिटटी और कीचड़ का उपयोग करते है. जो आज में जाने से जलन होती है और आँख ख़राब होने का खतरा रहता है. या जो तलब या गड्डा बहुत गन्दा हो मतलब किसका पानी साफ न हो उसमे विल्कुल भी न नहाये और न ही

किसी के ऊपर मिटटी या कीचड़ न फेके और न ही ट्रेन पर पत्थर फेके क्योकि बहुत से बच्चे आने जाने वाली ट्रेनों पर मिटटी , कीचड़ और पत्थर फेकते है . इस लिए न तो खुद एसा करे और अपने से छोटे लोगो को भी एसा करने से रोके  क्योकि इससे लोगो को भारी नुकसान भी उठाना पद सकता है जिससे आप को भी हानि पहुच सकती है .

post summary:
  1. होली पर रंगों का कम और अवीर गुलाल कर ज्यादा use करे
  2. कीचड़ मिटटी और गंदे पानी का उपयोग न करे
  3. नशा मुक्त fastival ( त्यौहार ) मनाये
  4. आँखों में रंग न डाले
  5. holi खेलने से पहले चेहरे पर cream या oil ( तेल ) लगा ले

आप को ये post कैसी लगी हमें comment में जरुर बताये और यदि आप को ये जानकारी पसंद आई हो तो इसे अपने frinds ( दोस्तों ) के साथ share जरुर करे धन्यवाद हैप्पी होली…..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.