what is CDN? CDN blog aur website ke liye kyo aur kaise jaruri hai

0
270

CDN  kya hota hai aur website ke liye kyo aur kaise jaruri hai :


cdn kya hai ?
CDN का पूरा नाम content delivery network होता है

आम तौर पर new blogger को CDN के बारे में

बहुत कम हि information ( जानकारी ) होती है

इसी लिए उनके समझ में ये बात बहुत कम हि आती है

यदि आप भी अभी NEW BLOGGER है और CDN

के बारे में कुछ नही जानते है तो आज मै आपको

अपने इस पोस्ट के माध्यम से details में बता रहा हूँ

actually CDN हमारी site को fast loading करवाने

के लिए सबसे popular aur important तरीको में से

एक है जिन लोगो को इसके बारे में technical information

blog aur blogging kya hai jane hindi me ?

android mobile ko virus aur hang hone se kaise bachaye

roop badalne wali photo kaise banaye

होती है वो लोग जानते है कि इसे use ( प्रयोग ) करने

से क्या क्या फायदा है वो लोग कोई न कोई content

delivery network ( CDN ) use करते है
       
    इस पोस्ट में मै आप को यही बताने जा रहा हु

कि CDN ( content delivery network ) क्या है ,

website के लिए क्यों जरुरी है और इसका इस्तेमाल

क्यों करना चाहिए और इसके क्या फायदे है

content delivery network क्या है : –


CDN भौगोलिक drshti ( geogra[jocall ) से dispersed 

google par free me website kaise banaye

servers का एक नेटवर्क है इसे Edge servers भी कहते है 

यह आपकी साईट के STATIC content 

जैसे : – CSS/JS , IMAGES AND

 STRUCTURAL COMPONENTS हर एक फाइल 

के साइज़ को चेक कर के काम करता है
Content Delivery network के डाटा सर्वर अलग 

अलग लोकेशन पर होते है जब भी कोई यूजर आपकी 

internet se online paise kaise kamaye


android mobile se paise kaise kamaye

site को खोलता है तो उसकी

request CDN network user के सबसे नजदीक डाटा सर्वर पर

जाती है और आपकी साईट जल्दी ओपन होती है इससे डाटा

ट्रेवल होने में कम टाइम लगता है और आपकी साईट

को fast loading providing होती है जिससे आपकी साईट

बहुत तेजी से open होती है

हमें CDN कि जरुरत kyo है और ये क्यों important है : –


हम website ya blog के लिए किसी न किसी share hosting

का इस्तेमाल करते है जैसे  : – hostgator , bluehost , 
godaddy ,

whatsapp chat ko kaise lock kare

adfly par account bna kar paise kaise kmaye

wpengine और other hosting providing कंपनी पर हम

अपनी site को host करते है इन सभी का एक हि डाटा

center होता है

और हमारे website कि लोकेशन एक हि होस्ट से होती है

इसीलिए जब भी कोई visitor हमारी website

को open करता है तो उसकी सारी request एक हि

डाटा सेंटर पर जाती है जिससे हमारी site slow open

hoti hai

आइये थोडा details में जानते है :

     1.       बिना CDN प्रयोग किये : –


यदि आप ने CDN का प्रयोग नही करते है तो आपकी

SITE एक Location पर HOST होगी और

mobile se mobile me internet data kaise share kare

मोबाइल में बैलेस कैसे ट्रान्सफर करे

जब कोई आपकी साईट को OPEN करेगा तो उसकी

Request एक हि location se handle होगी

जिससे डाटा भेजने में time ज्यादा लगता है और

आपकी site slow open होती है

        2.       CDN का प्रयोग करने पर : –


यदि आप कोई भी CDN का प्रयोग करते है

तो जब भी कोई USER आपकी साईट को ओपन

करेगा तो उसकी request उसके आस पास वाले

डाटा सेंटर पर जाएगी और उसकी दुरी कम होने

से डाटा भेजने में कम time लगता है और आपकी

साईट फ़ास्ट open होती है

html code kya hai ise blog me kaise add kare

mobile se computer ya laptop me internet kaise chalaye

website के लिए कौन सा CDN प्रयोग करे : –


Cloudgflare और maxcdn जैसे बहुत सी कंपनिया

फ्री और pad cdn service provide करती है

popularty देखे तो maxcdn ज्यादा पोपुलर है

और इसके लिए आपको पैसे देने पड़ेगे

मै आपको suggest करुगा कि पहले आप cloudglare

का फ्री प्लान try करे उसके बाद में आप pad प्लान

का प्रयोग करे


CDN के प्रयोग से आप कि वेबसाइट को क्या फायदा : –


ऊपर दी गयी जानकारी के हिसाब से आपको

english me likhe word ko hindi me kaise convert kare

ek mobile me do whatsapp kaise chalaye

थोडा बहुत तो जानकारी हो हि गयी होगी

कि CDN के प्रयोग से आप कि साईट

को क्या फायदा है फिर भी मै यह पर

आप को स्टेप BY स्टेप बता रहा हु

कि CDN के प्रयोग से आपकी साईट को

क्या फायदा है


1.       Website कि loading speed : –


CDN ( content delivery network ) प्रयोग

करने से आपकी वेबसाइट कि speed बढ़

जाती है और आपके रीडर आपकी साईट
को ज्यादा पसंद करेगे 90% यूजर फ़ास्ट loading
साईट पसंद करते है जिससे आपको ज्यादा ट्रैफिक
मिलेगा और लोग आपकी साईट पर दुसरो कि
अपेक्षा ज्यादा विजिट करना पसंद करेगे
2.       Search Ranking : –
जब आपकी वेबसाइट कि speed तेज होगी तो
google आपकी साईट को बहुत जल्द इंडेक्स करेगा
google ने ये बात बहुत पहले बता दी थी कि फ़ास्ट
loading साईट google सर्च इंजन में बहुत
जल्द इंडेक्स होती है और उसे सर्च इंजन से
ज्यादा ट्रैफिक मिलता है
3.       Bounce rate : –
आपके ब्लॉग या वेबसाइट के fast open न होने
कि वजह से visitor आपकी साईट के homepage
या किसी भी page को open करके छोड़ जाते है

जिससे आपकी site कि bounce rate बढ़ जाती
है bounce का ज्यादा होना SEO के  लिए अच्छा
नही होता है इसलिए आप CDN का USE करके
अपनी साईटकि speed बढ़ा सकते है इससे आपकी
साईट कि bounce rate कम होती है
4.       MORE Earning : –
CDN का प्रयोग करने से आपकी साईट पर
Affiliate marketing ads , adsense ads और
other ads भी बहुत fast open होगी जिससे आपको
ज्यादा से ज्यादा ads click मिलेंगे और आपकी
ज्यादा से ज्यादा income होगी अगर आप adsense
user है तो मै आप को suggest करुगा कि आप
अपनी साईट के लिए इसे एक बार जरुर try करे
और इसका फर्क और नतीजा खुद देखे
5.       कंट्रोल more traffic : –
hosting server एक हि location से साईट को host
करता है लेकिन CDN Network के geographical
location पर डाटा server होती है जिससे आपकी साईट
बहुत fast open होती है सेकंड डिफरेंस location पर डाटा
server होने कि वजह से आपकी साईट पर ज्यादा ट्रैफिक
कंट्रोल होगा
           उम्मीद करता हु आपको इस पोस्ट
को पढने के बाद cdn ( content delivery network )
के बारे में अच्छी जानकारी मिल गई होगी
यदि ये article आपके लिए helpful साबित हुई हो
तो इस पोस्ट को social मीडिया पर अपने फ्रेंड्स के साथ

जरुर शेयर करे
SHARE
Previous articleblog aur blogging kya hai what is blog and blogging ?
Next articlewhatsapp me hide group kaise banaye ek sath sabhi logo ko bheje apni post
Hallo Frinds Techrahul.com website पर आप का स्वागत है. मैं राहुल सिंह इस blog का Founder हु. आप को इस साइट पर इन्टरनेट से पैसे कमाने , blogging , और टेक्नोलॉजी की नई और लेटेस्ट जानकारी मिलेगी. इस website की सभी new और लेटेस्ट पोस्ट आप अपने ईमेल पर पाने के लिए ईमेल बॉक्स में अपना नाम और ईमेल डाल कर subscribe करे. और यदि आप को कुछ पूछना है तो आप comment में या फिर contect forum में पूछ सकते है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.